उत्तरकाशी के जखोल से देहरादून जा रही उतराखंड परिवहन निगम की बस जखोल गांव के पास दुर्घटना होने से बाल- बाल बच गई। चालक की सूझबूझ के चलते बस दुर्घटना होने से बच गई और सवार सभी 20 सवारियां सुरक्षित बस से बाहर निकल पाई।

उत्तराखंड परिवहन निगम की बस संख्या यूके 07-पीए 3525 भूस्खलन का शिकार होने से बाल बाल बची। बताया जा रहा है जिस वक्त पहाड़ी से मलबा गिरकर रोडवेज बस से टकराया उस वक्त बस में 20 सवारियां मौजूद थी। बस पर मलबा गिरते ही सवारियों में चीखपुकार मच गई। लेकिन गनीमत यह रही की बस खाई में धसने से बच गई और सभी 20 यात्री सुरक्षित बस से बाहर निकल गए। घटना इस कदर भयावह थी कि कुछ देर सवारियों की सांसें थम गई।

सोमवार सुबह सात बजे सांकरी व जखोल के बीच उत्तराखंड परिवहन निगम की बस में फिताडी लिवाडी,जखोल,धारा की लगभग 20 सवारी बैठी थी। यह बस उत्तरकाशी जखोल से देहरादून की तरफ जा रही थी। बस जखोल से कुछ दूर स्थित पांव गांव तक पहुंचने वाली थी कि इसी दौरान से पहाड़ी से भूस्खलन हो गया  और मलबा सीधे बस से आ टकराया। चालक की सूझबूझ के चलते बस दुर्घटना होने से बच गई और सवार सभी 20 सवारियां सुरक्षित बस से बाहर निकल पाई। 

बस में सवार गंगा सिंह रावत ने बताया कि पंचगांई पट्टी के सांकरी-जखोल क्षेत्र में गत तीन दिन से भारी बारिश का सिलसिला जारी है। जिसके चलते जगह-जगह भूस्खलन होने से मोटर मार्ग पर कई जगह मलबा आने व दिवारें गिरने का खतरा बना है। इस घटना में जान‌ माल का कोई नुकसान नहीं हुआ है। ग्रामीणों नें किसी तरह धक्का देकर बस मलबे से बहार निकाला जिसके बाद बस देहरादून पहुंची।