सहस्त्रधारा उत्तराखंड पर्यटन स्थल (Sahastradhara Uttarakhand Tourist Place)


सहस्त्रधारा देहरादून से महज 16 किलोमीटर की दूरी पर राजपुर गांव के पास स्थित है। सहस्त्रधारा एक खूबसूरत और लोकप्रिय स्थान है । सहस्त्रधारा का शाब्दिक अर्थ 'हजार धाराओं' से सुसज्जित भूभाग । यहां स्थित सुंदर झरना लगभग नौ मीटर गहरा है। बाल्दी नदी और उसके आसपास के क्षेत्र में स्थित गुफायें, इस जगह की सुंदरता को जोड़ती हैं, और इसे एक आदर्श पिकनिक स्थल बनाती हैं। जगह की अद्भुत आभा मानसून के दौरान कई गुना बढ़ जाती है, यहां बहता हुए पानी की धारा जीवन शक्ति और ऊर्जा के साथ प्रतिध्वनित होती है। यहां स्थित गंधक झरना त्वचा की बीमारियों की चिकित्सा के लिए प्रसिद्ध है। इसकी चिकित्सा संबंधी कुछ अन्य उपादेयताएं भी हैं। खाने-पीने और अन्य तरह की चीजें बेचने वाली दुकानों के होने से यह जगह पिकनिक के लिहाज से बेहद उपयुक्त है। हर दिन यहां लोगों को मौज-मस्ती करते हुए देखा जा सकता है। सहस्रधारा जाने के लिए पक्‍की सड़क तथा बस सेवाएं इत्यादि हैं । महज तीन पहाडि़यों को पार कर सहस्रधारा तक पहुँचा जाता है। पहाड़ों की घुमावदार एवं ऊँची-नीची सड़कें और हरे-भरे पेड़–पौधे सड़क किनारे ऐसे प्रतीत होते हैं मानो संग-संग चल रहे हों । एक पहाड़ी चट्टान के ठीक नीचे पानी बहता रहता है तथा जिसके ऊपर भाग पर सहस्रधारा की चट्टानें टिकी हुई हैं। चट्टानके नीचे गुफा है, जिसमें पानी झरने के रूप में गिरता रहता है । इसीसे छोटी-छोटी असंख्य धाराएं बन जाती हैं जिस वजह से इस जगह का नाम सहस्रधारा पड़ा है । गरमी में धाराओं की संख्या में कमी हो जाती है लेकिन बरसाती दिनों में सहस्र धाराएं पुनः बन जाती हैं।


यह पूरी जगह अपने आप में एक अद्भुत अकल्पनीय नजारा है। पहाड़ी से गिरते हुए जल प्रपात को प्राकृतिक तरीके से कई धाराओं की समन्वय से संजोया गया है । यहाँ से थोडी दूर एक दूसरी पहाड़ी के अंदर प्राकृतिक रूप से तराशी हुई कई छोटी छोटी गुफाएँ है, जो बाहर से तो स्पष्ट रूप से दिखाई नहीं देती हैं किंतु इन गुफा में प्रवेश करते ही गुफाओं की छत पर रिमझिम हल्की बारिश की बौछारें टपकती रहती है। छत से गिरने वाली इन अनगिनत धाराओं से भी यह जहग सहस्रधारा सम्बोधित की गई है । यह जगह दो कारणों से प्रसिद्धि लिए हुए है । एक तो इसका प्राकृतिक सदृश्य इतना मन मोह लेने वाला है कि मानो घण्टों बस निहारते रहो, दूसरा मान्यता है कि यहाँ चरम रोगी व पोलियो ग्रस्त बच्चे भी ठीक हो जाते हैं । इसलिए पर्यटकों का दिन भर आना जाना लगा रहता है । पर्यटकों की संख्या को देखते हुए स्थाई/अस्थाई निवासियों ने रोजगार के लिए वहां हर प्रकार की सुविधा मुहैय्या करवा रखी है । यहां आपको फास्ट फूड से लेकर परांठा तक और कोल्ड्रिंक से लेकर लस्सी तक हर प्रकार की सुविधा मिल जाती है । आईए आपको सहस्रधारा की कुछ यादगार तस्वीरों के दर्शन करवाते हैं । उम्मीद है आपको पसन्द आयेंगी और आप सहस्रधारा की तरफ उन्मुख होंगे ।





















(BDO) Block Development Officer Vacancy Uttarakhand 2020
Uttarakhand Education Department- 658 Vacancies
अगस्तमुनि से रुद्रप्रयाग जा रही बोलेरो हादसे का शिकार, सड़क पर ही पलट गई गाड़ी ।
श्रीनगर गढ़वाल में यूटिलिटी चालक ने स्कूटी सवार को कुचल डाला, युवक की मौत ।
कर्णप्रयाग में बोलेरो वाहन दुर्घटनाग्रस्त, एक की मौत दूसरा गम्भीर रूप से घायल ।
कौड़ियाला-तोताघाटी में 15 मीटर सड़क ढही, मरम्मत का कार्य जारी ।
PMGSY RECRUITMENT 2020 UTTARAKHAND
पाकिस्तान की गोलाबारी में ऋषिकेश के राकेश डोभाल शहीद, परिवार का रो रोकर बुरा हाल ।
कॉलेज की छात्रा से किया शादी वादा फिर तीन साल बनाए शाररिक सम्बन्ध, अब शादी के लिए चाहिए पांच लाख दहेज ।
 वर्ग-4 (सहयोगी/गार्ड) के पदों पर भर्ती, 23 दिसम्बर अंतिम तारीख ।

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।