मसूरी और टिहरी के बीच बसा धनौल्टी उत्तराखंड में पर्यटन क्षेत्र में नई पहचान बना रहा है । मसूरी से 24 किलोमीटर टिहरी मार्ग पर बसा धनौल्टी पर्यटकों के लिए धीरे-धीरे विशिष्ट स्थान बनता जा रहा है । धनौल्टी देवदार, रोडोडेंड्रोन और ओंक के जंगल से परिपूर्ण है। अब देवदार का जंगल ही इसकी पहचान बन चुका है। यहां रहने के लिए होटल तेजी से बन रहे है। गढ़वाल मंडल टूरिज्म का गेस्ट हाउस भी यहीं है। शहर की दौड़ भाग से दूर घूमना चाहते हैं तो धनौल्टी आदर्श जगह है। यातायात के लिहाज से धनौल्टी देहरादून से महज 60 किलोमीटर दूर है । देहरादून से मसूरी के लिए बराबर बस सेवा देहरादून रेलवे स्टेशन से मिल जाती है । सड़क मार्ग से धनौल्टी पहुँचने के लिए देहरादून से होते हुए बस से धनौल्टी पहुँच सकते हैं। टैक्सी या निजी वाहन लेकर आप धनोल्टी घूमने जा सकते हैं।


धनौल्टी पहाड़ी इलाका है अतैव काफ़ी शान्तिपूर्ण स्थल के रूप में जाना जाता है जिस कारण यहाँ पर्यटकों की भीड़ अधिक रहती है। लंबी जंगली ढलानें, ठंडी व शांत हवाएँ, स्थानीय लोगों द्वारा की जाने वाली मेहमान नवाजी, मनमोहक मौसम, बर्फ से ढंके पहाड़ यहाँ की ख़ास विशेषताओं में शामिल हैं । यह जगह छुट्टियाँ बिताने के लिए एक आदर्श जगह है । सकून और शान्त माहौल जीवन को एक अलग ही अनभूति प्रदान करता है । धनौल्टी भ्रमण की शुरूआत आप यहां के ऐतिहासिक स्थलों से कर सकते हैं। पहाड़ी सुंदरता के बीच देवगढ़ का किला धनौल्टी के अद्भुत दृश्य प्रस्तुत करता है। कई साल पुराना यह किला आज भी अपनी मजबूत बुनियाद के साथ पहाड़ियों के बीच खड़ा है। इस किले की वास्तुकला और जगह-जगह मौजद मूर्तियां इसे खास बनाने का काम करती हैं। इस किले के आसपास कई धार्मिक स्थल भी मौजूद हैं, जिन्हें भी आप इस दौरान देख सकते हैं। किले का आसपास का इलाका देखने योग्य है। इतिहास के कुछ अहम पहलुओं को यहां समझा जा सकता है। देखने लायक़ जगहों में बारेही पानी और जोरांडा फॉल्स, दशावतार मन्दिर, ईको-पार्क, सुरकंडा देवी, मन्दिर, हिमालयन वीवर्स, जैन मंदिर आदि शामिल हैं। सर्दियों में स्नो फॉल तो पर्यटकों में अलग ही उत्साह भर देती है । भरपूर रोमांच के लिए घुड़सवारी का आप यहां आनंद ले सकते हैं। और यहां सालभर मौसम ठंडा रहता है। साल के दिसंबर के माह से यहां बर्फबारी होना शुरू हो जाती है। जो पर्यटकों के लिए खासा उत्साह का केंद्र बन जाती है । यह स्थान मसूरी से बहुत पास है और मसूरी देहरादून से ज्यादा दूर नही है । कोई भी पर्यटक एक दिन में वापस लौट सकता है । धनौल्टीके बारे में ज्यादा न लिखते हुए आपको यहां की कुछ खूबसूरत तस्वीरों के साथ छोड़े चलता हूँ । उम्मीद है आप एक बार धनौल्टी घूमने अवश्य आएंगे और यहां की प्रकृतिक सुंदरता को अपनी जीवन यादों में बसा लेंगे ।