भारत के सर्वश्रेष्ठ पुरुस्कार - MOST POPULAR AWARDS OF INDIA




भारत के चार सर्वश्रेष्ठ पुरुस्कार निम्नवत हैं ।
1- भारत रत्न
2- पदम् विभूषण
3- पदम् भूषण
4 - पदम् श्री

भरत रत्न की स्थापना 2 जनवरी 1954 को तत्कालीन प्रथम भारतीय राष्ट्रपति राजेन्द्रप्रसाद जी द्वारा की गयी थी ।
और यह पुरुस्कार वर्ष 1954 में सबसे पहले तीन लोगों को दिया गया था जिनके नाम निम्न हैं -
1- चक्रवर्ती राजगोपालाचारी - ये भारत के दूसरे गवर्नर जरनल था पहले भारतीय गवर्नर जरनल थे ।
2 - सर्वपल्ली राधाकृष्णन - ये भारत के पहले उपराष्ट्रपति थे ।
3- डॉ चंद्रशेखर बेंकटरमन - ये प्रसिद्ध भौतिक शस्त्री थे और इन्हें रमन प्रभात के लिए नोबल पुरुस्कार भी दिया गया था ।

*  भारत रत्न वर्ष में सिर्फ तीन ही लोगों को दिया जा सकता है और यह जरूरी नही की भारत रत्न हर साल दिया ही जाय ।

* यह कला,विज्ञान, साहित्य, खेल और सार्वजनिक क्षेत्र में अतुल्नीय योगदान देने वाले व्यक्तियों को दिया जाता है वर्ष 2011 में पुरुस्कार के मानदण्डों के विस्तार में " मानव प्रायस के सभी क्षेत्र" की उपलब्धि को भी इसमें शामिल किया गया । तथा इस पुरुस्कार साथ कोई धनराशि नही दी जाती है । ऐसे व्यक्ति को एक मैडल तथा एक पत्र देकर सम्मानित किया जाता है । सम्मानित व्यक्ति को कुछ सुविधाओं से भी सम्मानित किया जाता है जो निम्नलिखित हैं -
1- राष्ट्रीय वायु यात्रा निःशुल्क
2- प्रथम श्रेणी रेलयात्रा निःशुल्क
3- संसद की बैठक या सत्र में भाग लेने की अनुमति
4- गणतंत्र या स्वतन्त्रता दिवस पर विशेष अतिथी का दर्जा
5- कैबनेट रैंक के बराबर की योग्यता

* भारत रत्न तीन धातुओं से मिलकर बना होता है जिसमें ताँबा, प्लेटेनियम और चांदी शामिल है । भारत रत्न पीपल के पत्ते की आकृति का होता है जो तांबे से निर्मित होता है तथा इसके बीच में प्लेटेनियम का चमकता सूर्य बना होता है जिसके ठीक नीचे चांदी से भारत रत्न लिखा हुआ होता है । भारत रत्न को सफेद रंग के फीते में डालकर 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के अवसर पर पहनाया जाता है ।

पंडित जवाहरलाल नेहरू भारत के पहले प्रधानमंत्री थे जिनको भारत रत्न से 1955 में सम्मानित किया गया था ।
वर्ष 1966 में पहली बार मरणोपरांत श्री लालबहादुर शास्त्री जी को यह सम्मान मिला था ।
भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को सन 1971 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया तथा वो प्रथम भारतीय महिला बनी जिनको यह सम्मान मिला ।
वर्ष 1980 में इसको पाने वाली दूसरी महिला मदर टेरिसा बनी ।
* - भारत रत्न वापसी - सन 1992 में सुभाषचन्द्र बोस को मरणोपरांत यह पुरुस्कार मिला लेकिन उनके परिवार ने सुभाष के मरने की पुष्टि न होने के बात की और मामला कोर्ट में चला गया जिस वजह से सरकार ने भारत रत्न वापस ले लिया ।
* वर्ष 2014 में सचिन तेंदुलकर भारत रत्न पाकर सबसे कम उम्र के भारतीय हुए जिनको यह सम्मान मिला तथा वह पहले भारतीय खिलाड़ी हैं जिनको इस पुरुस्कार से सम्मानित किया गया ।
* भारतीय इतिहास में भारत रत्न सिर्फ दो विदेशी नागरिकों को दिया गया है -
1- खान अब्दुल गफ्फार खान
2- नेल्सन मंडेला

★ एक नजर अब तक के भारत रत्न प्राप्त कर्ताओं पर-
*1995 -भगवान दास- 1921 में माहत्मा गांधी विद्यापीठ की सह स्थापना की थी तथा बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में मदन मोहन मालवीय की सहायता की थी ।
*1995- एम. विश्वेश्वरय्या- यह एक सिविल इंजीनियर थे । 15 दिसम्बर इनका जन्मदिन इंजीनियर दिवस के रूप में मनाया जता है । हैदराबाद को बाढ़ संरक्षण प्रणाली के मुख्य डिजाइनर थे ।
*1995- जवाहर लाल नेहरू- भारत के पहले प्रधानमंत्री (1947-1964) व 14 नवम्बर इनका जन्मदिन बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है ।
*1957-गोविन्द बल्लभ पंत- स्वतन्त्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका । ब्रिटिश सरकार के साथ साथ स्वतन्त्र भारत की सरकार में मुख्य भूमिका । वर्ष 1937 से 1939 व वर्ष 1946 से 1950 दो बार संयुक्त प्रान्त के प्रमुख रहे । 1950 से 1954 तक उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री रहे तथा 1955 में भारत सरकार के गृहमंत्री रहे । यह पहले और इकलौते उत्तराखंडी है जिनको भारत रत्न सम्मान मिला है ।
*1958- धोंडो केशव कर्वे- देश की महिलाओं के उत्थान में अहम योगदान ।
*1961- विधानचन्द्र राय - प्रतिष्टित चिकित्सक व स्वतन्त्रता सेनानी । 1948 से 1962 तक बंगाल की मुख्यमंत्री । आधुनिक पश्चिम बंगाल की निर्माताबक जन्म दिन देश भर में 1 जुलाई को नेशनल डॉक्टर डे के रूप में मनाया जाता है ।
*1961- पुरुषोत्तम दास टन्डन- हिंदी को आधिकारिक भाषा का दर्जा दिलाने के लिए अभियान । इनको राजर्षि भी कहा जाता है ।
*1962- डॉ राजेन्द्र प्रसाद- भारत के पहले राष्ट्रपति (1950 -1996) असहयोग आंदोलन का हिस्सा रहे । एक महान विद्वान, वकील व राजनेता थे ।
*1963- डॉ जाकिर हुसैन- भारत के उपराष्ट्रपति(1962-1967) ' स्वतंत्रता सेनानी के साथ साथ अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति( 1948 से 1950) रहे ।
*1963- पांडुरंग वामन काणे- संस्कृत के विद्वान थे ।
*1966- लाल बहादुर शास्त्री- भारत के दूसरे प्रधानमंत्री(1964 से 1966) तक । 1965 मे पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध का नेतृत्व किया । जंय जवान जंय किसान का नारा दिया ।
*1971- इंदिरा गांधी- भारत की तीसरी(1966 से 1977) प्रधानमंत्री व पहली भारतीय महिला प्रधानमंत्री थी । इनको आयरन लेडी के नाम से भी जाना जाता है । 1971 में भारत पाक युद्ध के दौरान बांग्लादेश के विभाजन किया ।
*1975- वी.वी. गिरी- स्वतंत्रता सेनानी व 19669 में भारत के उपराष्ट्रपति चुने गए ।
*1976- के. कामराज - तमिलनाडु के मुख्यमंत्री(1954 से 1963) तक ।
*1980 - मदर टेरेसा- धर्म प्रचारक दानी संस्था "कैथोलिक नन" की स्थापना की । 1979 में नोबल शांति पुरुस्कार से सम्मानित । 19 अक्टूबर 2003 को पोप फ्रांसिस ने उन्हें महान महिला घोषित किया व 4 दिसम्बर 2016 को संत की उपाधि प्रदान की ।
*1983- विनोद भावे- स्वतंत्रता सेनानी । भूदान व जो भूमि उपहार जैसे आंदोलनों के लिए प्रसिद्ध हैं।
*1987-खान अब्दुल गफार खान- स्वतंत्रता सेनानी व गाँधी जी का कट्टर समर्थक । इनको फ्रंटियर गांधी के नाम से भी जाना जाता है ।
*1988- एम.जी. रामचद्रंन- एक अभिनेता थे । 1977 से 1987 तक तमिलनाडु के मुख्यमंत्री भी रहे ।
*1990- वी.आर.अम्बेडकर- भारत के पहले कानून मंत्री व दलितों के लिए सामाजिक भेदभाव के खिलाफ कई अभियान किए ।
*1991-राजीव गांधी- भारत के प्रधानमंत्री(1984 से 1989) व 40 वर्ष की आयु के सबसे युवा प्रधानमंत्री थे ।
*1991- बल्लभभाई पटेल- रियासत को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका । इनको आयरन मैन भी कहा जाता है ।
*1991- मोरारजी देसाई- भारत के प्रधानमंत्री(1977-1979) । निशान ए पाकिस्तान जो पाक का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है से नवाजा गया । ऐसे एक मात्र भारतीय है ।
*1992- अब्बुल कलाम आजाद- भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री । 11 नवम्बर को इनका जन्मदिन शिक्षा दिवस के रूप में मनाया जाता है ।
*1992- जे.आर.डी. टाटा- टाटा उद्योगपति के साथ साथ समाज सेवी भी थे । जिन्होंने टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च जैसे संस्थान की स्थापना की ।
*1997- गुलजारीलाल नन्दा- 1964 से 1966 तक अंतरिम प्रधानमंत्री रहे । योजना आयोग के दो बार अध्यक्ष रहे ।
*1997- करुणा आसफ अली- स्वतंत्रता सेनानी व 1958 में दिल्ली की पहली मेयर भी रही ।
* 1997- A.P. J. अब्दुल कलाम- अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी और रक्षा वैज्ञानिक थे । इंटीग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलोपमेन्ट प्रोग्रामिंग के जनक । 2002 से 2007 तक भारत के राष्ट्रपति रहे ।
*1998- एम.एस. सुब्बुलक्ष्मी- कर्नाटक शास्त्रीय गायन । गायिकी में "रमन मैगसेस पुरुस्कार" जीत कर पहली भारतीय महिला बनी जिनको यह सम्मान मिला । इनको गीतों की रानी भी कहा जाता है ।
* 1998- चिदम्बरम सुब्रमण्यम- भारत के कृषिमंत्री थे । हरित क्रांति में महत्वपूर्ण योगदान दिया ।
*1999- जयप्रकाश नारायण- प्रसिद्ध लोकगायक 1970 में इंदिरा गांधी की सरकार के खिलाफ किए गए संघर्ष के लिए जाने जाते हैं ।
* 1999-अमर्त्य सेन- प्रसिद्ध अर्थशास्त्री ।1998 में आर्थिक विज्ञान में नोबल मेमोरियल पुरूस्कार से सम्मानित थे।
*1999- रविशंकर प्रसाद- प्रसिद्ध सितार वादक थे।
*2001-लता मंगेशकर- 36 से अधिक भाषाओं में गाने गाए । 1989 में दादा फाल्के पुरस्कार से सम्मानित हैं ।
*2001- बिस्मिल्लाह खां- शहनाई को लोकप्रिय बनाने में मुख्य भूमिका ।
*2009- भीमसेन जोशी- कर्नाटक राज्य के प्रशंसित गायक ।
*2014- सी.एन. आर.राव- रसायन शास्त्र क्षेत्र । मॉलिक्यूलर स्ट्रक्चर, सॉलिड स्टेट पर शोध किया ।
2015- सचिन तेंदुलकर- 664 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच । एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दोहरा शतक जड़ने वाले पहले खिलाड़ी ।
*2015-मदन मोहन मालवीय- भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष व 1924 से 1946 तक हिंदुस्तान टाइम्स के अध्यक्ष रहे ।
*2015 अटल बिहारी वाजपेयी- 1996 से 1998 व 1999 से 2004 तक देश के प्रधानमंत्री तथा 1977 से 1979 तक भारतीय सरकार के विदेश मंत्री रहे । 1994 में सर्वश्रेष्ठ संसदीय पुरुस्कार से सम्मानित किया गया ।

* वर्ष 2019 में 26 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा यह पुरुस्कार तीन लोगों को दिया गया जिनके नाम निम्नलिखित हैं -
1- प्रणब मुखर्जी :- ये भारत के 13वें राष्ट्रपति रह चुके हैं तथा वर्ष 2008 में देश के दूसरे सर्वोच्च सम्मान पदम् विभूषण से भी सम्मानित किये जा चुके हैं ।
2- नानाजी देशमुख - इनको यह सम्मान मरणोपरांत दिया गया है तथा ये भी देश के दूसरे सर्वोच्च सम्मान पदम विभूषण से सम्मानित थे ।
3- भूपेन हजारिका- इनको भी यह सम्मान मरणोपरांत दिया गया तथा इनको पदम् विभूषण तथा दादा फाल्के जैसे पुरुस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका था ।



(BDO) Block Development Officer Vacancy Uttarakhand 2020
Uttarakhand Education Department- 658 Vacancies
अगस्तमुनि से रुद्रप्रयाग जा रही बोलेरो हादसे का शिकार, सड़क पर ही पलट गई गाड़ी ।
श्रीनगर गढ़वाल में यूटिलिटी चालक ने स्कूटी सवार को कुचल डाला, युवक की मौत ।
कर्णप्रयाग में बोलेरो वाहन दुर्घटनाग्रस्त, एक की मौत दूसरा गम्भीर रूप से घायल ।
कौड़ियाला-तोताघाटी में 15 मीटर सड़क ढही, मरम्मत का कार्य जारी ।
PMGSY RECRUITMENT 2020 UTTARAKHAND
पाकिस्तान की गोलाबारी में ऋषिकेश के राकेश डोभाल शहीद, परिवार का रो रोकर बुरा हाल ।
कॉलेज की छात्रा से किया शादी वादा फिर तीन साल बनाए शाररिक सम्बन्ध, अब शादी के लिए चाहिए पांच लाख दहेज ।
 वर्ग-4 (सहयोगी/गार्ड) के पदों पर भर्ती, 23 दिसम्बर अंतिम तारीख ।

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।